गुरुवार, 28 मार्च 2013

क्षणिका ..प्रेम (२)



तुम 
नही जता पाते प्रेम 
मेरे प्रति ...
क्यों ..? 
 क्यूंकि 
नही किया तुमने कभी प्रेम ...
चंद शब्दों से 
लिख देते हो इतिहास ...../
पर प्रेम तो 
 वर्तमान है ....
 है ना..... !!!! 
(अंजू अनन्या)